मेज, पलंग, कुर्सियाँ, सोफे,
फ्रिज, टीवी, अलमारी,
हीरो-होंडा...
और एक विवाहिता !

ये सबकुछ लेकर
अपने साथ लौटी है
कल रात
बबलू की बरात लौटी है।


-अमन कुमार, मधेपुरा
0 Responses

टिप्पणी पोस्ट करें