चेहरे पर कैक्टस उगाये ये हैं खद्दरधारी
भाई-भतीजा/ परिवारवाद की इन्हें लगी है बीमारी

दिन में उजले लिबास धारे उद्घाटन/ शिलान्यास
रात में सफेदपोश मानव/ हथियारों की तस्करी

गांधी को गोली मारने वाले खड़े हैं सीना तान
एक और पाकिस्तान की है पूरी तैयारी

दफ़न हो रहे अन्नदाता/ विश्वकर्मा मजदूर
और महलों पर महल जोड़ रहे अवैध व्यापारी

जिन्सों के सौदागर हो गए मौत के आढती
वैश्वीकरण की खाल ओढ़े आ रहे मानव-व्यापारी

मनसर मलीन/ गंगा दूषित गंगोत्री में ही खासी
सुंदरवन वाले करें क्या उपाय नियंत्रणकारी

चोर-सिपाही मिलकर लूटें अस्मत रात-दिन
ऐसे में माँ भारती की कौन करे रखवारी ?



डॉ० रामलखन सिंह यादव
अपर जिला जज, मधेपुरा.
0 Responses

टिप्पणी पोस्ट करें