एनल व ओरल सेक्स से संतुष्टि कैसे ?
मैं जानना चाहता हूँ कि गुदा मैथुन और मुख मैथुन द्वारा कोई कैसे चरम सुख पा सकता है ?
योनि सम्भोग को छोड़कर अन्य तरीके से किया गया संभोग खुद को संतुष्ट करने और सेक्सुअल लाइफ में विविधता लाने के लिए किया जाता है. इसलिए मुख मैथुन, गुदा मैथुन आदि ऐसे कई तरीके इस्तेमाल किए जाते हैं. यदि इस तरह से सेक्स पूर्ण आनंद और आपसे सहमति के साथ किया जाए तो इसे हम एक सामान्य सेक्सुअल क्रिया ही मानेंगे. लेकिन जबरदस्ती या फिर अगले की इच्छा के विरूद्ध होने पर समस्याएं उत्पन्न होती हैं. वैसे भी योनि संभोग को छोड़कर अन्य तरीके से सेक्स सभी तरीके से सुविधाजनक नहीं होता.

उत्तेजना के वक्त लिंग से चिपचिपा द्रव
मैं एक स्वस्थ युवक हूँ. एक बात को लेकर थोड़ा परेशान रहता हूँ कि जब भी मैं बहुत उत्तेजित होता हूँ तो मेरे लिंग के अग्रभाग से चिपचिपा द्रव निकलता है, ऐसा क्यों होता है ?
आप जो अनुभव कर रहे हैं वह पूर्णत: स्वस्थ-सामान्य है, बल्कि आपको तो खुश होना चाहिए, क्योंकि इससे आपका सेक्स का आनंद और बढ़ेगा. अत्यधिक उत्तेजना में इस तरह का रिसाव चिकनापन प्रदान करता है, जिससे लिंग का प्रवेश आसान होता है. यही वजह है कि जिन लोगों को सामान्य रूप से रिसाव नहीं होता है उन्हें जेल या क्रीम लगाने की सलाह दी जाती है. अत: आप प्राकृतिक रूप से पूर्णत: स्वस्थ हैं.


सोते समय स्खलित होना
पिछले एक वर्ष से सोते समय हमेशा मेरा वीर्य स्खलित हो जाता है. क्या करूं ?
पुरुष के शरीर में नियमित रूप से वीर्य का निर्माण होता है, पर यह एक सीमा तक ही शरीर में जमा हो सकता है, अत: उसे खाली करने की जरूरत होती है. इसे सम्भोग द्वारा या हस्तमैथुन द्वारा खाली किया जा सकता है. पर इन दोनों क्रियाओं के अभाव में शरीर अपने आप उसे बाहर करके अपना संतुलन बनाये रखता है. अत: घबराने की कोई बात नहीं है.

सेक्स टॉयज
मैंने सेक्स उपकरण, जैसे- स्टिम्यूलेटर्स और ब्यॉयब्रेटर्स के बारे में बहुत सुना है. मैं जानना चाहता हूँ कि ये क्या होते हैं और कहाँ उपलब्ध हो सकते हैं ?
इस तरह के सेक्स टॉयज कई वर्षों से प्रयुक्त होते आ रहे हैं और आजकल और अधिक विकसित व लोकप्रिय हो गए हैं.इनका इस्तेमाल सेक्स के आनंद को बढाने के लिए किया जाता है. महिलायें व पुरुष दोनों की इसका प्रयोग कर सकते हैं. ये विभिन्न प्रकार के होते हैं, अत: अपनी जरूरत के हिसाब से इन्हें लिया जा सकता है. वैसे तो ये सुरक्षित होते हैं, पर इन्हें लेकर विवाद भी है. चूंकि भारत में इनकी खुलेआम बिक्री पर रोक है, अत: ये विदेशों में ही अधिक लोकप्रिय हैं और वहीं आसानी से उपलब्ध हो सकते हैं.

छोटा और पतला लिंग
मेरी समस्या यह है कि मेरा लिंग छोटा और पतला है. मैं हमेशा इसे लेकर चिंतित रहता हूँ. क्या इससे शादी के बाद कोई परेशानी होगी?
यूं देखा जाय तो पुरुषों में लिंग के आकार को लेकर समस्या उम्रदराज होने के साथ होती है. वैसे भी लिंग का कोई आदर्श आकार नहीं होता. इरेक्शन के समय लिंग अपनी पूरी उत्तेजना के साथ कम से कम 2 से 2.5 इंच लंबा हो तो एक सफल सम्भोग के लिए पर्याप्त है. स्त्रियों का भी केवल योनि का बाहरी 2.5 इंच उत्तेजना के लिए बहुत ही संवेदनशील होता है. अत: इसके लिए लिंग का आकार पर्याप्त है. इससे आप अपनी पत्नी को संतुष्ट करेंगे और आप भी सेक्स का पूरा आनंद उठाने में समर्थ होंगे.
(साभार: मेरी सहेली)
0 Responses

टिप्पणी पोस्ट करें