वक़्त का कोई मोल नहीं होता
यह बड़ा अनमोल है
रुकता नहीं कभी किसी के लिए
इसका यही झोल है
कभी आता किसी के पास अच्छा
कभी आता किसी पर बुरा है
बिना वक़्त के जीवन बिल्कुल अधूरा है
वक़्त ही सिखाता है
वक़्त ही रुलाता है
यही ज़िन्दगी के हर उतार चड़ाव
व्यक्ति को जीवन में दिखता है
जिसने करा इस्तेमाल सही
उसके वारे न्यारे है
निकल गया अगर सही वक़्त
फिर न अपनी किस्मत को मारे है !!




विकास कटारिया
14 Responses



  1. वाह मेरे दोस्त बहुत अच्छा ......


  2. शुक्रिया ! शुक्रिया ! शुक्रिया !!




  3. भई वाह ...
    बधाई व् मंगलकामनाएं विकास को..



  4. सब मित्रो को बहुत बहुत धन्यवाद् !! :) :) :) :)


  5. GiriArts Says:

    सचमुच ही वकत किसी का इंतज़ार नहीं करता , सत्य लिखा हे आपने ,



  6. ब्क़हुत बहुत बधाई सर जी ....उम्दा पंक्तियाँ ..बिना वक़्त के जीवन बिल्कुल अधूरा है
    वक़्त ही सिखाता है
    वक़्त ही रुलाता है


  7. बहुत बहुत बधाई सर बहुत सुन्दर अभिव्यक्ति ...........विना वक़्त के जीवन बिल्कुल अधूरा है
    वक़्त ही सिखाता है
    वक़्त ही रुलाता है


एक टिप्पणी भेजें